महामाई के दरबार में माथा टेक मांगी रिद्धि-सिद्धि

महामाई के दरबार में माथा टेक मांगी रिद्धि-सिद्धि

जागरणसंवाददाता,उन्नाव:नवरात्रिकेतीसरेदिनभीदेवीमंदिरोंमेंश्रद्धाकासैलाबहिलोरेमारतारहा।बड़ीसंख्यामेंउपासकोंनेमंदिरपहुंचमातारानीकापूजनकररिद्धिसिद्धिकावरदानमांगा।शनिवारकोतीसरेदिनमाताकेदोस्वरूपोंकूष्मांडाऔरचंद्रघंटाकीपूजाकीगई।मंदिरोंहीनहींघरोंमेंभीसुबहमातारानीकाजयकाराऔरआरतीकेस्वरोंकीगूंजसुनाईदेरहीहै।

शहरकेप्रमुखदेवीमंदिरोंबड़ादुर्गामंदिरराजाशंकरसहायस्कूलपरिसर,पूर्णादेवीधामआवासविकासऔरमांकल्याणीदेवीमंदिरमेंभक्तोंकीखासीभीड़होरहीहै।सुबहशामआरतीमेंभीबड़ीसंख्यामेंभक्तपहुंचरहेहैं।वहींकोविडप्रोटोकालकापालनकरतेहुएशहरकेसिविललाइंसमौहारीबाग,एबीनगरआदिआधादर्जनस्थानोंपरसार्वजनिकपूजापांडालसजाएगएहैं।यहांभीदर्शनपूजनकेलिएभक्तपहुंचरहेहैं।हवनपूजनऔरआरतीकेस्वरतोहरघरोंमेंभीसुनाईदेरहेहैं।

वहींदूसरीतरफशक्तिपीठदेवीमंदिरोंमेंदुर्गामंदिरनवाबगंज,कुशहरीमंदिरकुसुंभीऔरबक्सरस्थितचंडिकादेवीधाममेंभक्तोंकीभारीभीड़उमड़रहीहै।यहांमुंडन,कर्णछेदनआदिसंस्कारकरानेकेलिएभीबड़ीसंख्यामेंभक्तपहुंचरहेहैं।

गायत्रीपंचकुडीययज्ञमेंआहुतिदेनेपहुंचरहेभक्त

गायत्रीमंदिरडीएसएनकालेजरोडमेंनवरात्रिपरप्रतिदिनपंचकुंडीयगायत्रीमहायज्ञकियाजारहाहै।जिसमेंआहुतिदेनेकेलिएबड़ीसंख्यामेंभक्तपहुंचरहेहैं।व्यवस्थापकसिद्धनाथश्रीवास्तवनेबतायाकीनवरात्रिमेंअनुष्ठानकाउद्देश्यअनुशासितचितनकरनाहै।